Header Ads Widget

Responsive Advertisement

light reflection and refraction class 10 ncert solutions

light reflection and refraction class 10 ncert solutions: इस लेख में, आप उम्मीदवार प्रकाश परावर्तन और अपवर्तन कक्षा 10 NCERT समाधान पा सकते हैं। कक्षा 10 एनसीईआरटी समाधानों के हल्के अध्याय पर काम करने से उम्मीदवारों को भौतिकी विषय पर एक मजबूत नींव बनाने में मदद मिलेगी। प्रकाश परावर्तन और अपवर्तन कक्षा 10 के प्रश्न और उत्तर जानने से कक्षा 10 के छात्रों को कक्षा 10 की बोर्ड परीक्षाओं में भी अच्छे अंक प्राप्त करने में मदद मिलेगी।


NCERT Solutions For Class 10 Science Chapter 10 प्रकाश परावर्तन और अपवर्तन के साथ उम्मीदवार इस लेख में प्रकाश परावर्तन और अपवर्तन कक्षा 10 के संख्यात्मक प्रश्न भी पा सकते हैं। उनके माध्यम से जाने से उम्मीदवारों को इस बारे में एक स्पष्ट विचार प्राप्त करने में मदद मिलेगी कि समस्याओं से कैसे संपर्क किया जाए जो बदले में आपको उन्हें सबसे कुशल तरीके से हल करने में मदद करता है। तो इंतज़ार क्यों? प्रकाश परावर्तन और अपवर्तन के बारे में सब कुछ जानने के लिए कक्षा 10 के महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर यहां पढ़ें।


light reflection and refraction class 10 ncert solutions

light reflection and refraction class 10 ncert solutions के विवरण में जाने से पहले, आइए NCERT कक्षा 10 विज्ञान पुस्तक गतिविधियों समाधान अध्याय 10 के तहत विषयों और उप-विषयों का अवलोकन करें:


  • प्रकाश - परावर्तन और अपवर्तन
  • प्रकाश का परावर्तन
  • गोलाकार दर्पण
  • प्रकाश का अपवर्तन


NCERT Solutions for Class 10 Science Chapter 10

पृष्ठ संख्या: 168


प्रश्न 1

अवतल दर्पण के मुख्य फोकस को परिभाषित कीजिए।

उत्तर:

अवतल दर्पण का मुख्य फोकस उसके मुख्य अक्ष पर एक बिंदु होता है, जिस पर सभी प्रकाश किरणें जो समानांतर होती हैं और अक्ष के करीब होती हैं, अवतल दर्पण से परावर्तन के बाद अभिसरित होती हैं।


प्रश्न 2

एक गोलीय दर्पण की वक्रता त्रिज्या 20 सेमी है। इसकी फोकस दूरी क्या है?

उत्तर:

फोकस दूरी = (1/2) x वक्रता त्रिज्या = (1/2) x 20 सेमी = 10 सेमी


प्रश्न 3

उस दर्पण का नाम बताइए जो किसी वस्तु का सीधा और बड़ा प्रतिबिम्ब दे सकता है।

उत्तर:

अवतल दर्पण।


प्रश्न 4

हम वाहनों में उत्तल दर्पण को पश्च-दृश्य दर्पण के रूप में क्यों पसंद करते हैं?

उत्तर:

हम दो कारणों से वाहनों में उत्तल दर्पण को पीछे देखने वाले दर्पण के रूप में पसंद करते हैं:


  •  उत्तल दर्पण सदैव वस्तुओं का सीधा प्रतिबिम्ब बनाता है।
  •  उत्तल दर्पण में बनने वाला प्रतिबिम्ब वस्तु से बहुत छोटा या बहुत छोटा होता है, जिसके कारण उत्तल दर्पण पीछे के यातायात का एक विस्तृत क्षेत्र प्रदान करता है। उत्तल दर्पण चालक को अपने पीछे के यातायात के इतने बड़े क्षेत्र को देखने में सक्षम बनाता है।

पृष्ठ संख्या: 171


प्रश्न 1

एक उत्तल दर्पण की फोकस दूरी ज्ञात कीजिए जिसकी वक्रता त्रिज्या 32 सेमी है।

समाधान:

आर = +32 cm और 

f=R2=+322=+16cm

प्रश्न 2

एक अवतल दर्पण अपने सामने 10 सेमी की दूरी पर रखी वस्तु का तीन गुना आवर्धित (बड़ा) वास्तविक प्रतिबिम्ब बनाता है। छवि कहाँ स्थित है?

समाधान:

चूँकि प्रतिबिम्ब वास्तविक है, इसलिए आवर्धन m ऋणात्मक होना चाहिए।


NCERT Solutions for Class 10 Science Chapter 10
NCERT Solutions for Class 10 Science Chapter 10



इस प्रकार प्रतिबिम्ब दर्पण के बिंब पक्ष पर दर्पण से 30 सेमी की दूरी पर स्थित होता है।


पृष्ठ संख्या: 176


प्रश्न 1

हवा में यात्रा करते हुए प्रकाश की एक किरण पानी में तिरछे प्रवेश करती है। प्रकाश की किरण अभिलंब की ओर झुकती है या अभिलंब से दूर? क्यों ?

उत्तर:

प्रकाश-किरण अभिलम्ब की ओर झुकती है क्योंकि प्रकाश की किरण विरल माध्यम से सघन माध्यम में जाती है।


प्रश्न 2

प्रकाश हवा से कांच में प्रवेश करता है जिसका अपवर्तनांक 1.50 है। कांच में प्रकाश की गति कितनी होती है? निर्वात में प्रकाश की चाल 3 x 108 ms-1 है।

समाधान:

कांच का अपवर्तनांक, n8 = 1.50


light reflection and refraction class 10 ncert solutions
light reflection and refraction class 10 ncert solutions



प्रश्न 3

तालिका 10.3 से उच्चतम प्रकाशिक घनत्व वाला माध्यम ज्ञात कीजिए। न्यूनतम प्रकाशिक घनत्व वाला माध्यम भी ज्ञात कीजिए।

उत्तर:

तालिका 10.3 से, हीरे का अपवर्तनांक उच्चतम (= 2.42) होता है, इसलिए इसका प्रकाशिक घनत्व उच्चतम होता है।

वायु का अपवर्तनांक सबसे कम है (= 1.0003),

अतः इसका प्रकाशिक घनत्व सबसे कम है।


प्रश्न 4

आपको मिट्टी का तेल, तारपीन और पानी दिया जाता है। इनमें से किसमें प्रकाश सबसे तेज गति से चलता है? तालिका 10.3 में दी गई जानकारी का प्रयोग करें।

उत्तर:

मिट्टी के तेल के लिए, n = 1.44

तारपीन के लिए, n = 1.47

पानी के लिए, n = 1.33

चूंकि पानी का अपवर्तनांक सबसे कम होता है, इसलिए प्रकाश इस वैकल्पिक रूप से दुर्लभ माध्यम में मिट्टी के तेल और तारपीन के तेल की तुलना में सबसे तेजी से यात्रा करता है।


प्रश्न 5

हीरे का अपवर्तनांक 2.42 होता है। इस कथन का अर्थ क्या है?

उत्तर:

यह कहने से कि हीरे का अपवर्तनांक 2.42 है, हमारा मतलब है कि हीरे में प्रकाश की गति निर्वात के सापेक्ष 2.42 के कारक से कम है।


NCERT Solutions for Class 10 Science Chapter 10 Page no : 184


प्रश्न 1

लेंस की क्षमता के 1 डायोप्टर को परिभाषित करें।

उत्तर:

एक डायोप्टर एक लेंस की क्षमता है जिसकी फोकस दूरी 1 मीटर है।


प्रश्न 2

एक उत्तल लेंस सुई से 50 सेमी की दूरी पर एक वास्तविक और उल्टा प्रतिबिंब बनाता है। यदि प्रतिबिम्ब वस्तु के आकार के बराबर है, तो सुई को उत्तल लेंस के सामने कहाँ रखा जाता है? इसके अलावा, लेंस की शक्ति का पता लगाएं। , सोल। यहाँ, u - +50 सेमी ..

समाधान:

यहाँ v = +50 सेमी

क्योंकि वास्तविक प्रतिबिम्ब वस्तु के आकार के समान है,


chapter 10 science class 10 extra questions
chapter 10 science class 10 extra questions



प्रश्न 3

2 मीटर फोकस दूरी वाले अवतल लेंस की क्षमता ज्ञात कीजिए।

समाधान:

क्योंकि अवतल लेंस की फोकस दूरी ऋणात्मक होती है,

इसलिए f = -2 m


light reflection and refraction class 10 ncert solutions
light reflection and refraction class 10 ncert solutions



End Question for NCERT Solutions for Class 10 Science Chapter 10 

प्रश्न 1

लेंस बनाने के लिए निम्नलिखित में से किस सामग्री का उपयोग नहीं किया जा सकता है?

(पानी

(बी) ग्लास

(सी) प्लास्टिक

(डी) मिट्टी

उत्तर:

(डी) मिट्टी


प्रश्न 2

अवतल दर्पण से बनने वाला प्रतिबिम्ब आभासी, सीधा और बिंब से बड़ा होता है। वस्तु की स्थिति कहाँ होनी चाहिए?

(ए) मुख्य फोकस और वक्रता केंद्र के बीच

(बी) वक्रता के केंद्र में

(सी) वक्रता के केंद्र से परे

(डी) दर्पण के ध्रुव और उसके मुख्य फोकस के बीच।

उत्तर:

(डी) दर्पण के ध्रुव और उसके मुख्य फोकस के बीच।


प्रश्न 3

वस्तु के आकार का वास्तविक प्रतिबिम्ब प्राप्त करने के लिए किसी वस्तु को उत्तल लेंस के सामने कहाँ रखा जाना चाहिए?

(ए) लेंस के मुख्य फोकस पर (बी) फोकल लम्बाई के दोगुने पर

(सी) अनंत पर

(डी) लेंस के ऑप्टिकल केंद्र और उसके मुख्य फोकस के बीच।

उत्तर:

(बी) फोकल लंबाई के दोगुने पर।


प्रश्न 4

एक गोलीय दर्पण और एक पतले गोलाकार लेंस में प्रत्येक की फोकस दूरी -15 सेमी है। दर्पण और लेंस होने की संभावना है:

(ए) दोनों अवतल।

(बी) दोनों उत्तल।

(सी) दर्पण अवतल है और लेंस उत्तल है।

(डी) दर्पण उत्तल है, लेकिन लेंस अवतल है।

उत्तर:

(ए) दोनों अवतल


प्रश्न 5

आप दर्पण से कितनी भी दूर खड़े हों, आपका प्रतिबिम्ब सीधा दिखाई देता है। दर्पण होने की संभावना है

(एक हवाई जहाज

(बी) अवतल

(सी) उत्तल

(डी) या तो विमान या उत्तल।

उत्तर:

(डी) या तो विमान या उत्तल।


प्रश्न 6

शब्दकोश में पाए जाने वाले छोटे अक्षरों को पढ़ते समय आप निम्नलिखित में से किस लेंस का उपयोग करना पसंद करेंगे?

(ए) फोकल लंबाई 50 सेमी का उत्तल लेंस।

(बी) फोकल लंबाई 50 सेमी का अवतल लेंस।

(सी) फोकल लंबाई 5 सेमी का उत्तल लेंस।

(डी) फोकल लंबाई 5 सेमी का अवतल लेंस।

उत्तर:

(सी) फोकल लंबाई 5 सेमी का उत्तल लेंस।


प्रश्न 7

हम 15 सेमी फोकस दूरी के अवतल दर्पण का उपयोग करके किसी वस्तु का सीधा प्रतिबिम्ब प्राप्त करना चाहते हैं। दर्पण से वस्तु की दूरी का परिसर क्या होना चाहिए? छवि की प्रकृति क्या है? प्रतिबिम्ब वस्तु से बड़ा है या छोटा ? इस स्थिति में प्रतिबिम्ब बनने को दर्शाने के लिए किरण आरेख खींचिए।

उत्तर:

एक अवतल दर्पण एक सीधा प्रतिबिम्ब देता है जब वस्तु को अवतल दर्पण के फोकस F और ध्रुव P के बीच रखा जाता है, अर्थात दर्पण से 0 और 15 सेमी के बीच। इस प्रकार बनने वाला प्रतिबिम्ब आभासी, सीधा और वस्तु से बड़ा होगा।


NCERT Solutions for Class 10 Science Chapter 10 in Hindi
NCERT Solutions for Class 10 Science Chapter 10



प्रश्न 8

निम्नलिखित स्थितियों में प्रयुक्त होने वाले दर्पण के प्रकार का नाम लिखिए।

(ए) एक कार की हेडलाइट्स।

(बी) किसी वाहन का साइड/रियर-व्यू मिरर।

(सी) सौर भट्ठी।

अपने उत्तर का तर्क सहित समर्थन करें।

उत्तर:

(ए) अवतल दर्पण कारों के हेडलाइट्स में परावर्तक के रूप में उपयोग किए जाते हैं। जब एक बल्ब अवतल दर्पण के फोकस पर स्थित होता है, तो दर्पण से परावर्तन के बाद प्रकाश किरणें उच्च तीव्रता के समानांतर बीम के रूप में बड़ी दूरी तक यात्रा करती हैं।


(बी) उत्तल दर्पण का उपयोग वाहन के पार्श्व/पीछे देखने वाले दर्पण के रूप में किया जाता है क्योंकि


  • उत्तल दर्पण हमेशा अपने सामने कहीं भी रखी वस्तु का सीधा, आभासी और छोटा प्रतिबिम्ब बनाता है।
  • उत्तल दर्पण में समान आकार के समतल दर्पण की तुलना में देखने का क्षेत्र व्यापक होता है।

(सी) सौर भट्टियों में गर्मी पैदा करने के लिए सूर्य के प्रकाश को केंद्रित करने के लिए बड़े अवतल दर्पणों का उपयोग किया जाता है।


प्रश्न 9

उत्तल लेंस का आधा भाग काले कागज से ढका होता है। क्या यह लेंस वस्तु का पूर्ण प्रतिबिम्ब उत्पन्न करेगा ? प्रयोगात्मक रूप से अपने उत्तर की पुष्टि कीजिए। अपने अवलोकनों की व्याख्या करें।

उत्तर:

उत्तल लेंस किसी वस्तु का पूर्ण प्रतिबिम्ब बनाता है, भले ही उसका आधा भाग काले कागज से ढका हो। इसे निम्नलिखित दो मामलों पर विचार करके समझाया जा सकता है।

केस I : जब लेंस का ऊपरी आधा भाग ढका होता है

इस मामले में, वस्तु से आने वाली प्रकाश की किरण लेंस के निचले आधे हिस्से से अपवर्तित हो जाएगी। ये किरणें दी गई वस्तु की छवि बनाने के लिए लेंस के दूसरी तरफ मिलती हैं, जैसा कि निम्नलिखित आकृति में दिखाया गया है।


class 10 science chapter 10 question answer in hindi pdf
class 10 science chapter 10 question answer in hindi pdf



केस II: जब लेंस का निचला आधा भाग ढका हो

इस स्थिति में, वस्तु से आने वाली प्रकाश की किरण लेंस के ऊपरी आधे भाग से अपवर्तित हो जाती है। ये किरणें दी गई वस्तु की छवि बनाने के लिए लेंस के दूसरी तरफ मिलती हैं, जैसा कि दिए गए चित्र में दिखाया गया है।



ncert class 10 science chapter 10 exercise solutions
ncert class 10 science chapter 10 exercise solutions



प्रश्न 10

5 सेमी लंबाई की एक वस्तु को 10 सेमी फोकल लंबाई के अभिसारी लेंस से 25 सेमी दूर रखा जाता है। किरण आरेख खींचिए और बनने वाले प्रतिबिम्ब की स्थिति, आकार तथा प्रकृति ज्ञात कीजिए।

उत्तर:

यहाँ : वस्तु की दूरी, u= -25 सेमी,

वस्तु की ऊँचाई, h = 5 सेमी,

फोकल लंबाई, f = +10 सेमी

लेंस सूत्र के अनुसार, 1f=1ν−1u , हमारे पास


⇒ 1/ν=1/f−1/u=1/10−1/25=15/250याν=250/15=16.66 सेमी


v का धनात्मक मान दर्शाता है कि प्रतिबिम्ब लेंस के दूसरी ओर बनता है।


light reflection and refraction class 10 solutions
light reflection and refraction class 10 solutions



प्रतिबिम्ब की ऊँचाई का ऋणात्मक मान दर्शाता है कि बना प्रतिबिम्ब उल्टा है।

छवि की स्थिति, आकार और प्रकृति को किरण आरेख में साथ में दिखाया गया है।


ncert solutions for class 10 science chapter 10
ncert solutions for class 10 science chapter 10



प्रश्न 11

फोकल लंबाई 15 सेमी का एक अवतल लेंस लेंस से 10 सेमी की छवि बनाता है। वस्तु को लेंस से कितनी दूर रखा गया है? किरण आरेख खींचिए।

समाधान:

फोकल लंबाई, f = -15 सेमी, छवि दूरी, ν = -10 सेमी (जैसे अवतल लेंस लेंस के उसी तरफ छवि बनाता है)

लेंस सूत्र 1/f=1/ν−1/u से, हमारे पास है


class 10 science chapter 10 notes in Hindi
class 10 science chapter 10 notes in Hindi



वस्तु की दूरी, u = -30 cm

u का ऋणात्मक मान दर्शाता है कि वस्तु को लेंस के सामने रखा गया है।


प्रश्न 12

एक वस्तु को 15 सेमी फोकस दूरी वाले उत्तल दर्पण से 10 सेमी की दूरी पर रखा गया है। छवि की स्थिति और प्रकृति का पता लगाएं।

समाधान:

वस्तु की दूरी, u = -10 सेमी, फोकल लंबाई, f = +15 सेमी, छवि दूरी, ν = ?


light reflection and refraction class 10 solutions
light reflection and refraction class 10 solutions



अत: प्रतिबिम्ब की दूरी, = + 6 cm

क्योंकि +ve है, इसलिए दर्पण के पीछे 6 सेमी की दूरी पर एक आभासी छवि बनती है।

आवर्धन, m=−υ/u=−6/−30=1/5 (अर्थात < 1)

m का धनात्मक मान दर्शाता है कि प्रतिबिम्ब सीधा है और उसका मान, जो 1 से कम है, दर्शाता है कि प्रतिबिम्ब वस्तु से छोटा है। इस प्रकार प्रतिबिम्ब आभासी, सीधा तथा छोटा होता है।


प्रश्न 13

समतल दर्पण द्वारा उत्पन्न आवर्धन +1 होता है। इसका क्या मतलब है ?

उत्तर:

आवर्धन के बाद से, m=h'/h=−ν/u. दिया गया है, m = +1, इसलिए h' = h और v = -u


(i) m = 1 दर्शाता है कि छवि का आकार वस्तु के आकार के समान है।

(ii) m का धनात्मक चिन्ह दर्शाता है कि एक सीधा प्रतिबिम्ब बनता है।


और u के विपरीत चिन्ह यह दर्शाते हैं कि प्रतिबिम्ब दर्पण के दूसरी ओर जहाँ से बिंब रखा गया है, उस पर बनता है अर्थात प्रतिबिम्ब दर्पण के पीछे बनता है और इस प्रकार बनने वाला प्रतिबिम्ब आभासी होता है।


प्रश्न 14

5.0 सेमी लंबाई की एक वस्तु 30 सेमी वक्रता त्रिज्या के उत्तल दर्पण के सामने 20 सेमी की दूरी पर रखी जाती है। प्रतिबिम्ब की स्थिति, उसकी प्रकृति तथा आकार ज्ञात कीजिए।

समाधान:

चूँकि वस्तु का आकार, h = +5 सेमी,

वस्तु की दूरी, u = -20 सेमी

और वक्रता त्रिज्या, R = +30 सेमी


light chapter of class 10 pdf download
light chapter of class 10 pdf download


दर्पण के पीछे 2.2 सेमी ऊँचाई का एक आभासी, सीधा प्रतिबिम्ब दर्पण से 8.6 सेमी की दूरी पर बनता है।


प्रश्न 15

7.0 सेमी आकार की एक वस्तु को 18 सेमी फोकल लंबाई के अवतल दर्पण के सामने 27 सेमी पर रखा जाता है। एक परदे को दर्पण से कितनी दूरी पर रखा जाना चाहिए, ताकि एक तेज फोकस्ड छवि प्राप्त की जा सके? प्रतिबिम्ब का आकार और प्रकृति ज्ञात कीजिए।

उत्तर:

यहाँ, वस्तु का आकार, h = +7.0 cm,

वस्तु की दूरी, u = -27 सेमी

और फोकस दूरी, f = -18 cm

छवि दूरी, = ?

और प्रतिबिम्ब का आकार, h' = ?

दर्पण सूत्र से, 1/f=1/ν−1/u, हमारे पास है


chapter 10 science class 10 extra questions
chapter 10 science class 10 extra questions



नुकीला प्रतिबिंब प्राप्त करने के लिए स्क्रीन को दर्पण के बिंब पक्ष पर 54 सेमी की दूरी पर रखा जाना चाहिए।


light reflection and refraction class 10 ncert solutions in hindi
light reflection and refraction class 10 ncert solutions in hindi



प्रतिबिम्ब वास्तविक, उल्टा तथा आकार में बड़ा होता है।


प्रश्न 16

-2.0 D क्षमता वाले लेंस की फोकस दूरी ज्ञात कीजिए। यह किस प्रकार का लेंस है?

उत्तर:

यहां, पी = -2.0 डी

लेंस का प्रकार अवतल है क्योंकि फोकस दूरी ऋणात्मक है।


प्रश्न 17

एक डॉक्टर ने +1.5 D शक्ति का सुधारात्मक लेंस निर्धारित किया है। लेंस की फोकस दूरी ज्ञात कीजिए। क्या निर्धारित लेंस अपसारी या अभिसारी है?

उत्तर:

यहां, पी = +1.5 डी


चूँकि फोकस दूरी धनात्मक है, इसलिए निर्धारित लेंस अभिसारी है।


ncert class 10 science chapter 10 exercise solutions

घुमावदार सतहों द्वारा प्रकाश का परावर्तन; गोलाकार दर्पण, वक्रता केंद्र, मुख्य अक्ष, मुख्य फोकस, फोकल लंबाई, दर्पण सूत्र (व्युत्पन्न आवश्यक नहीं), आवर्धन द्वारा निर्मित छवियां।

अपवर्तन; अपवर्तन के नियम, अपवर्तनांक।

गोलीय लेंस द्वारा प्रकाश का अपवर्तन; गोलाकार लेंस द्वारा बनाई गई छवि; लेंस सूत्र (व्युत्पत्ति आवश्यक नहीं); आवर्धन। एक लेंस की शक्ति;


पृष्ठ 168


प्रश्न 1।

अवतल दर्पण के मुख्य फोकस को परिभाषित करें?

उत्तर:

अवतल दर्पण के मुख्य अक्ष के समानांतर प्रकाश किरणें दर्पण से परावर्तित होने के बाद अपने मुख्य अक्ष पर एक विशिष्ट बिंदु पर अभिसरण करती हैं। इस बिंदु को अवतल दर्पण के मुख्य फोकस के रूप में जाना जाता है।


प्रश्न 2।

एक गोलीय दर्पण की वक्रता त्रिज्या 20 सेमी है। इसकी फोकस दूरी क्या है?

उत्तर:

वक्रता त्रिज्या, R = 20 सेमी

गोलीय दर्पण की वक्रता त्रिज्या = 2 x फोकस दूरी (f)

एफ = आर/2 = 20/2 = 10 सेमी


प्रश्न 3।

उस दर्पण का नाम बताइए जो किसी वस्तु का सीधा और बड़ा प्रतिबिम्ब दे सकता है।

उत्तर:

जब किसी वस्तु को अवतल दर्पण के ध्रुव और मुख्य फोकस के बीच रखा जाता है, तो बनने वाला प्रतिबिम्ब आभासी, सीधा और बड़ा होता है।


प्रश्न 4.

हम वाहनों में उत्तल दर्पण को पश्च-दृश्य दर्पण के रूप में क्यों पसंद करते हैं?

उत्तर:

उत्तल दर्पण अपने सामने रखी वस्तुओं का आभासी, सीधा और छोटा प्रतिबिम्ब देते हैं। उन्हें वाहनों में रियर-व्यू मिरर के रूप में पसंद किया जाता है क्योंकि वे एक व्यापक क्षेत्र का दृश्य देते हैं, जिससे चालक को अपने पीछे के अधिकांश ट्रैफ़िक को देखने की अनुमति मिलती है।


पृष्ठ 171


प्रश्न 1. एक उत्तल दर्पण की फोकस दूरी ज्ञात कीजिए जिसकी वक्रता त्रिज्या 32 सेमी है।

उत्तर: वक्रता त्रिज्या, R = 32 cm

वक्रता त्रिज्या = 2 x फोकस दूरी (f)

आर = 2f

एफ = आर/2 = 32/2 = 16 सेमी

अत: दिए गए उत्तल दर्पण की फोकस दूरी 16 सेमी है।


प्रश्न 2।

एक अवतल दर्पण अपने सामने 10 सेमी की दूरी पर रखी वस्तु का तीन गुना आवर्धित (बड़ा) वास्तविक प्रतिबिम्ब बनाता है। छवि कहाँ स्थित है?

उत्तर:

दिया गया है, u = - 10 सेमी

चूँकि प्रतिबिम्ब वास्तविक उल्टा होता है, इसलिए m = -3

एम = -वी / यू

-3 = -v/ -10

वी = - 30 सेमी

ऋणात्मक चिन्ह दर्शाता है कि प्रतिबिम्ब वास्तविक होगा और प्रतिबिम्ब दर्पण के सामने 30 सेमी पर बनता है।


पेज: 176


प्रश्न 1।

हवा में यात्रा करते हुए प्रकाश की एक किरण पानी में तिरछे प्रवेश करती है। प्रकाश की किरण अभिलंब की ओर झुकती है या अभिलंब से दूर? क्यों?

उत्तर:

प्रकाश की किरण अभिलंब की ओर झुकती है। जब प्रकाश की किरण वैकल्पिक रूप से विरल माध्यम से वैकल्पिक रूप से सघन माध्यम में जाती है, तो यह अभिलंब की ओर मुड़ जाती है। चूंकि पानी हवा की तुलना में वैकल्पिक रूप से सघन है, इसलिए हवा से पानी में जाने वाली प्रकाश की किरण अभिलंब की ओर झुक जाएगी।


प्रश्न 2।

प्रकाश हवा से कांच में प्रवेश करता है जिसका अपवर्तनांक 1.50 है। कांच में प्रकाश की गति कितनी होती है? निर्वात में प्रकाश की चाल 3 × 108 m/s होती है।

उत्तर:

एक माध्यम एनएम का अपवर्तनांक किसके द्वारा दिया जाता है,

एक माध्यम एनएम का अपवर्तनांक किसके द्वारा दिया जाता है,


प्रश्न 3।

तालिका से उच्चतम प्रकाशिक घनत्व वाले माध्यम का पता लगाएं। न्यूनतम प्रकाशिक घनत्व वाला माध्यम भी ज्ञात कीजिए।

उत्तर:

NCERT Solutions for Class 10th Science Chapter 10

उच्चतम प्रकाशिक घनत्व = हीरा

निम्नतम प्रकाशिक घनत्व = वायु

किसी माध्यम का प्रकाशिक घनत्व सीधे उस माध्यम के अपवर्तनांक से संबंधित होता है। जिस माध्यम का अपवर्तनांक उच्चतम होता है, उसका प्रकाशिक घनत्व उच्चतम होता है और इसके विपरीत।

तालिका 10.3 से यह देखा जा सकता है कि हीरे और वायु का अपवर्तनांक क्रमशः उच्चतम और निम्नतम है। इसलिए, हीरे में सबसे अधिक ऑप्टिकल घनत्व होता है और हवा में सबसे कम ऑप्टिकल घनत्व होता है

पृष्ठ 184


प्रश्न 1।

एक लेंस की क्षमता के एक डायोप्टर को परिभाषित करें?

उत्तर:

एक डायोप्टर 1m फोकल लंबाई के लेंस की शक्ति है।

लेंस की शक्ति को उसकी फोकस दूरी के व्युत्क्रम के रूप में परिभाषित किया जाता है। यदि P फोकल लंबाई F के लेंस की क्षमता मीटर में है, तो

पी = 1/ एफ (मीटर में)

लेंस की क्षमता का S.I. मात्रक डायोप्टर है। इसे डी द्वारा निरूपित किया जाता है।

1 डायोप्टर को 1 मीटर फोकस दूरी वाले लेंस की क्षमता के रूप में परिभाषित किया जाता है।

1 डी = 1 एम-1


प्रश्न 2।

एक उत्तल लेंस सुई से 50 सेमी की दूरी पर एक वास्तविक और उल्टा प्रतिबिंब बनाता है। यदि प्रतिबिम्ब वस्तु के आकार के बराबर है, तो सुई को लेंस के सामने कहाँ रखा जाता है? लेंस की शक्ति भी ज्ञात कीजिए।

उत्तर:

वी = + 50 सेमी

चूँकि प्रतिबिम्ब वास्तविक तथा समान आकार का होता है। छवि की स्थिति फोकल लंबाई से दोगुनी होनी चाहिए।

अत: वस्तु 2f पर होनी चाहिए।

वी = 2एफ = 50, एफ = 25 सेमी।

शक्ति = 1/f = 100/25 = 4D


प्रश्न 3।

2 मीटर फोकस दूरी वाले अवतल लेंस की क्षमता ज्ञात कीजिए।

उत्तर:


प्रश्न 1।

लेंस बनाने के लिए निम्नलिखित में से किस सामग्री का उपयोग नहीं किया जा सकता है?

(ए) पानी (बी) ग्लास

(सी) प्लास्टिक (डी) मिट्टी

उत्तर: (डी) मिट्टी


प्रश्न 2।

अवतल दर्पण द्वारा बनाया गया प्रतिबिम्ब आभासी, सीधा और वस्तु से बड़ा देखा जाता है। वस्तु की स्थिति कहाँ होनी चाहिए?

(ए) मुख्य फोकस और वक्रता केंद्र के बीच

(बी) वक्रता के केंद्र में

(सी) वक्रता के केंद्र से परे

(डी) दर्पण के ध्रुव और उसके मुख्य फोकस के बीच।

उत्तर: (d) दर्पण के ध्रुव और उसके मुख्य फोकस के बीच।


प्रश्न 3।

एक वस्तु कहाँ होनी चाहिए b. एक वास्तविक प्राप्त करने के लिए उत्तल लेंस के सामने रखा जाता है


light reflection and refraction class 10 ncert solutions
light reflection and refraction class 10 ncert solutions



वस्तु के आकार की छवि?

(ए) लेंस के मुख्य फोकस पर

(बी) दोगुने फोकल लंबाई पर

(सी) अनंत पर

(डी) लेंस के ऑप्टिकल केंद्र और उसके मुख्य फोकस के बीच

उत्तर:

(बी) दोगुने फोकल लंबाई पर


प्रश्न 4.

एक गोलीय दर्पण और एक पतले गोलाकार लेंस में प्रत्येक की फोकस दूरी 15 सेमी है। दर्पण और लेंस होने की संभावना है:

(ए) दोनों अवतल

(बी) दोनों उत्तल

(सी) दर्पण अवतल है, लेकिन लेंस उत्तल है

(डी) दर्पण उत्तल है, लेकिन लेंस अवतल है

उत्तर:

(ए) दोनों अवतल।


प्रश्न 5.

आप दर्पण से कितनी भी दूर खड़े हों, आपकी छवि सीधी दिखाई देती है। दर्पण होने की संभावना है

(एक हवाई जहाज

(बी) अवतल

(सी) उत्तल

(डी) या तो विमान या उत्तल

उत्तर:

(डी) या तो विमान या उत्तल।


प्रश्न 6.

शब्दकोश में पाए जाने वाले छोटे अक्षरों को पढ़ते समय आप निम्नलिखित में से किस लेंस का उपयोग करना पसंद करेंगे?

(ए) फोकल लंबाई का उत्तल लेंस 50cm

(बी) फोकल लंबाई का अवतल लेंस 50cm

(सी) फोकल लंबाई 5 सेमी . का उत्तल लेंस

(डी) फोकल लंबाई 5 सेमी का अवतल लेंस।

उत्तर:

(सी) फोकल लंबाई 5 सेमी का उत्तल लेंस।


प्रश्न 7.

हम 15 सेमी फोकस दूरी के अवतल दर्पण का उपयोग करके किसी वस्तु का सीधा प्रतिबिम्ब प्राप्त करना चाहते हैं। दर्पण से वस्तु की दूरी का परिसर क्या होना चाहिए? छवि की प्रकृति क्या है? प्रतिबिम्ब वस्तु से बड़ा है या छोटा? इसमें प्रतिबिम्ब बनने को दर्शाने के लिए किरण आरेख खींचिए

मामला।

उत्तर:

हमें अवतल दर्पण की फोकस दूरी cf = -15cm के रूप में दी गई है।

अवतल दर्पण का उपयोग करके एक सीधा प्रतिबिम्ब प्राप्त करने के लिए, वस्तु को फोकस दूरी से कम दूरी पर रखा जाना चाहिए।

अर्थात् खम्भे से 15 सेमी. बनने वाला प्रतिबिम्ब आभासी, बड़ा और सीधा होगा।


light chapter of class 10 notes pdf
light chapter of class 10 notes pdf



प्रश्न 8.

निम्नलिखित स्थितियों में प्रयुक्त होने वाले दर्पण के प्रकार का नाम लिखिए।

(ए) एक कार की हेडलाइट्स

(बी) वाहन का साइड/रियर-व्यू मिरर

(सी) सौर भट्ठी

अपने उत्तर का तर्क सहित समर्थन करें।

उत्तर:

(ए) अवतल दर्पण, प्रकाश के शक्तिशाली और समानांतर बीम प्राप्त करने के लिए।

(बी) उत्तल दर्पण क्योंकि यह हमेशा एक सीधा प्रतिबिंब देता है और चालक को बहुत बड़ा क्षेत्र देखने में सक्षम बनाता है।

(सी) अवतल या परवलयिक दर्पण क्योंकि यह सौर भट्टी में गर्मी पैदा करने के लिए सूर्य के प्रकाश को फोकस पर केंद्रित कर सकता है।


प्रश्न 9.

उत्तल लेंस का आधा भाग काले कागज से ढका होता है। क्या यह लेंस वस्तु का पूर्ण प्रतिबिम्ब उत्पन्न करेगा? प्रयोगात्मक रूप से अपने उत्तर की पुष्टि कीजिए। अपने अवलोकनों की व्याख्या करें।

उत्तर:

हाँ, जब लेंस का आधा भाग काले कागज से ढक दिया जाता है, तब भी वस्तु का पूर्ण प्रतिबिम्ब बनेगा। एक उत्तल लेंस लें और दूर की वस्तु से प्रकाश को परदे पर केंद्रित करें। जैसा कि अपेक्षित था एक छवि (तेज) फोकल लंबाई के बराबर दूरी पर बनती है लेंस के निचले या ऊपरी आधे हिस्से को कवर करें और उसी वस्तु से प्रकाश को उसी स्क्रीन पर केंद्रित करें। आप फिर से एक तेज छवि प्राप्त करने में सक्षम होंगे; हालांकि दूसरे केस में इमेज की ब्राइटनेस कम होगी। वही प्रभाव w ​​देखा जाएगा, भले ही लेंस काली पट्टियों से आधा ढका हो।


प्रश्न 10.

5 सेमी लंबाई की एक वस्तु को 10 सेमी फोकल लंबाई के अभिसारी लेंस से 25 सेमी दूर रखा जाता है। एक किरण आरेख खींचिए और बनने वाले प्रतिबिम्ब की स्थिति, आकार तथा प्रकृति ज्ञात कीजिए।

उत्तर:


ncert class 10 science chapter 10 in hindi
ncert class 10 science chapter 10 in hindi 



इसलिए, लेंस के दूसरी तरफ F2 और 2F2 के बीच बना दाना। यह वास्तविक और उल्टा है, और वस्तु से आकार में छोटा है।


प्रश्न 11.

15 सेमी फोकस दूरी का एक अवतल लेंस लेंस से 10 सेमी की दूरी पर बनता है। वस्तु को कलम से कितनी दूर रखा गया है? किरण आरेख खींचिए।

उत्तर:


class 10 science chapter 10 notes
class 10 science chapter 10 notes



प्रश्न 12.

एक वस्तु को 15 सेमी फोकस दूरी वाले उत्तल दर्पण से 10 सेमी की दूरी पर रखा गया है। छवि की स्थिति और प्रकृति का पता लगाएं।

उत्तर:

f = +15 cm. u = -10 cm

दर्पण के लिए, हमारे पास है


light reflection and refraction class 10 in hindi ncert
light reflection and refraction class 10 in hindi ncert



प्रतिबिम्ब आभासी और सीधा होना चाहिए।


प्रश्न 13.

समतल दर्पण द्वारा उत्पन्न आवर्धन +1 होता है। इसका क्या मतलब है?

उत्तर:

इसका मतलब है कि छवि का आकार वस्तु के आकार के बराबर है।


प्रश्न 14.

5.0 सेमी लंबाई की एक वस्तु को 30 सेमी वक्रता त्रिज्या वाले उत्तल दर्पण के सामने 20 सेमी की दूरी पर रखा गया है। छवि प्रकृति और आकार की स्थिति का पता लगाएं।

उत्तर:


light reflection and refraction class 10 in hindi
light reflection and refraction class 10 in hindi 



उस्शन 15.

7.0 सेमी आकार की एक वस्तु को 18 सेमी फोकल लंबाई के अवतल दर्पण के सामने 27 सेमी पर रखा जाता है। परदे को दर्पण से कितनी दूरी पर रखा जाना चाहिए, ताकि एक तीक्ष्ण केंद्रित प्रतिबिम्ब प्राप्त किया जा सके? प्रतिबिम्ब का आकार और प्रकृति ज्ञात कीजिए।

उत्तर:


ncert class 10 science chapter 10 PDF
ncert class 10 science chapter 10 PDF



प्रश्न 16.

-2.0 D क्षमता वाले लेंस की फोकस दूरी ज्ञात कीजिए। यह किस प्रकार का लेंस है?

उत्तर:


class 10 science chapter 10 notes
class 10 science chapter 10 notes



प्रश्न 17.

एक डॉक्टर ने +1.5 D शक्ति का सुधारात्मक लेंस निर्धारित किया है। लेंस की फोकस दूरी ज्ञात कीजिए। क्या निर्धारित लेंस अपसारी या अभिसारी है?

उत्तर:



light reflection and refraction class 10 ncert solutions
light reflection and refraction class 10 ncert solutions



MCQ For light reflection and refraction class 10 ncert solutions


प्रश्न 1।

अपने चेहरे के पास अंदर की ओर घुमावदार एक अत्यधिक पॉलिश स्टील का चम्मच पकड़ें और इसे धीरे-धीरे अपने चेहरे से दूर ले जाएं। आप क्या निरीक्षण करेंगे?

(ए) आपके चेहरे की बढ़ी हुई और सीधी छवि

(बी) आपके चेहरे की छोटी और उलटी छवि

(सी) आपके चेहरे की छोटी और सीधी छवि

(डी) आपके चेहरे की बढ़ी और उलटी छवि

उत्तर:

(बी) एक अत्यधिक पॉलिश स्टील चम्मच की आंतरिक घुमावदार सतह अवतल दर्पण के रूप में कार्य करती है। जब चम्मच चेहरे से थोड़ी दूरी पर होता है, तो वस्तु अवतल दर्पण के ध्रुव और फोकस के बीच होती है, इसलिए आपके चेहरे की एक बड़ी और सीधी छवि देखी जाएगी, लेकिन जैसे-जैसे चम्मच धीरे-धीरे चेहरे से दूर हो जाता है, प्रतिबिम्ब छोटा हो जाता है और उल्टा दिखाई देता है।


प्रश्न 2।

लेंस बनाने के लिए निम्नलिखित में से किस सामग्री का उपयोग नहीं किया जा सकता है? [एनसीईआरटी]

(पानी

(बी) ग्लास

(सी) प्लास्टिक

(डी) मिट्टी

उत्तर:

(डी) मिट्टी कभी भी पारदर्शी नहीं हो सकती है, इसलिए इसका उपयोग लेंस बनाने के लिए नहीं किया जा सकता है।


प्रश्न 3।

आप दर्पण से कितनी भी दूर खड़े हों, आपका प्रतिबिम्ब सीधा दिखाई देता है। दर्पण होने की संभावना है [एनसीईआरटी]

(एक हवाई जहाज

(बी) अवतल

(सी) उत्तल

(डी) या तो विमान या उत्तल

उत्तर:

(d) समतल दर्पण और उत्तल दर्पण हमेशा सीधा प्रतिबिम्ब बनाते हैं।


प्रश्न 4.

अवतल दर्पण से बनने वाला प्रतिबिम्ब आभासी, सीधा और बिंब से बड़ा होता है। वस्तु की स्थिति कहाँ होनी चाहिए? [एनसीईआरटी]

(ए) मुख्य फोकस और वक्रता केंद्र के बीच

(बी) वक्रता के केंद्र में

(सी) वक्रता के केंद्र से परे

(डी) दर्पण के ध्रुव और उसके मुख्य फोकस के बीच

उत्तर:

(डी)


प्रश्न 5.

एक वस्तु AB को उत्तल लेंस के सामने उसके वक्रता केंद्र पर रखा गया है जैसा कि नीचे दिए गए चित्र में दिखाया गया है।


light reflection and refraction class 10 NCERT Notes
light reflection and refraction class 10 NCERT Notes



लेंस के माध्यम से अपवर्तन के बाद चार छात्रों ने प्रकाश किरण के मार्ग का पता लगाया। उनमें से कौन सा सही है?


light reflection and refraction class 10 notes
light reflection and refraction class 10 notes



(ए) केवल मैं

(बी) केवल II

(सी) केवल III

(डी) केवल IV

उत्तर:

(d) जब बिंब उत्तल लेंस के वक्रता केंद्र (2Fx) पर रखा जाता है, तो समान आकार का प्रतिबिम्ब 2F2 पर बनता है। बनने वाला प्रतिबिम्ब वास्तविक तथा उल्टा होता है।


प्रश्न 6.

एक गोलीय दर्पण और एक पतले गोलाकार लेंस में प्रत्येक की फोकस दूरी -15 सेमी है। दर्पण और लेंस होने की संभावना है [एनसीईआरटी]

(ए) दोनों अवतल

(बी) दोनों उत्तल

(सी) दर्पण अवतल है और लेंस उत्तल है

(डी) दर्पण उत्तल है और लेंस अवतल है

उत्तर:

(ए) अवतल दर्पण और अवतल लेंस दोनों के लिए फोकल लंबाई को नकारात्मक के रूप में लिया जाता है।


प्रश्न 7.

जब किसी बिंदु स्रोत से प्रकाश उस पर आपतित होता है, तो निम्न में से कौन प्रकाश की समानांतर किरण बना सकता है? [एनसीईआरटी उदाहरण]

(ए) अवतल दर्पण के साथ-साथ उत्तल लेंस

(बी) उत्तल दर्पण के साथ-साथ अवतल लेंस

(c) दो समतल दर्पण एक दूसरे से 90° पर स्थित हैं

(डी) अवतल दर्पण के साथ-साथ अवतल लेंस

उत्तर:

(ए) अवतल दर्पण या उत्तल लेंस के मुख्य फोकस से गुजरने वाली किरण, परावर्तन/अपवर्तन के बाद, मुख्य अक्ष के समानांतर निकलेगी।


ncert class 10 science chapter 10 exercise solutions
ncert class 10 science chapter 10 exercise solutions



प्रश्न 8.

निम्नलिखित में से किस स्थिति में अवतल दर्पण वास्तविक वस्तु से बड़ा प्रतिबिम्ब बना सकता है? [एनसीईआरटी उदाहरण]

(ए) जब किसी वस्तु को उसकी वक्रता त्रिज्या के बराबर दूरी पर रखा जाता है

(बी) जब किसी वस्तु को उसकी फोकस दूरी से कम दूरी पर रखा जाता है

(सी) जब कोई वस्तु फोकस और वक्रता केंद्र के बीच रखी जाती है

(डी) जब किसी वस्तु को उसकी वक्रता त्रिज्या से अधिक दूरी पर रखा जाता है

उत्तर:

(सी) एक अवतल दर्पण वक्रता केंद्र से परे वास्तविक वस्तु से बड़ा, वास्तविक और उल्टा एक छवि बना सकता है (सी) जब वस्तु फोकस (एफ) और वक्रता केंद्र के बीच रखी जाती है।


प्रश्न 9.

एक प्रकाश किरण चित्र में दिखाए गए माध्यम A से मध्यम बास में प्रवेश करती है। A के सापेक्ष माध्यम B का अपवर्तनांक होगा [NCERT उदाहरण]


light chapter of class 10 ncert pdf
light chapter of class 10 ncert pdf



(ए) एकता से बड़ा

(बी) एकता से कम

(सी) एकता के बराबर

(डी) शून्य

उत्तर:

(ए) चूंकि, माध्यम बी में प्रकाश किरणें सामान्य की ओर जाती हैं। तो, इसका अपवर्तनांक अधिक होता है और प्रकाश का वेग कम होता है w.r.t. माध्यम A. तो, माध्यम B का अपवर्तनांक w.r.t. माध्यम ए एकता से बड़ा है।


प्रश्न 10.

चित्र प्रकाश की एक किरण दिखाता है क्योंकि यह माध्यम A से मध्यम B तक जाती है। माध्यम A के सापेक्ष माध्यम B का अपवर्तनांक है


class 10 science chapter 10 notes
class 10 science chapter 10 notes



उत्तर:

(ए) दिया गया है, आपतन कोण, i = 60°, अपवर्तन कोण, r = 45°

माध्यम A के सापेक्ष माध्यम B का अपवर्तनांक,


ncert class 10 science chapter 10 exercise solutions
ncert class 10 science chapter 10 exercise solutions



प्रश्न 11.

प्रकाश की किरणें छेद ए और बी के माध्यम से आपतित होती हैं और बॉक्स से क्रमशः छेद सी - और डी के माध्यम से निकलती हैं, जैसा कि चित्र में दिखाया गया है।


light chapter of class 10 notes pdf
light chapter of class 10 notes pdf



निम्नलिखित में से कौन सा बॉक्स के अंदर हो सकता है? [एनसीईआरटी उदाहरण]

(ए) एक आयताकार कांच का स्लैब

(बी) एक उत्तल लेंस

(सी) एक अवतल लेंस

(डी) एक प्रिज्म

उत्तर:

(ए) यहां, निर्गत किरणें आपतित किरण की दिशा के समानांतर हैं। इसलिए, एक आयताकार ग्लास स्लैब बॉक्स के अंदर हो सकता है क्योंकि आयताकार ग्लास स्लैब के विपरीत समानांतर चेहरों एबी (एयर-ग्लास इंटरफेस) और सीडी (ग्लास-एयर इंटरफेस) पर प्रकाश किरण के झुकने की सीमा बराबर और विपरीत होती है। यही कारण है कि किरण आपतित किरण के समानांतर निकलती है।


प्रश्न 12.

प्रकाश की किरण A की ओर के छिद्रों से आपतित होती है और चित्र में दर्शाए अनुसार बॉक्स के दूसरे फलक के छिद्रों से बाहर निकलती है। निम्नलिखित में से कौन सा बॉक्स के अंदर हो सकता है? [एनसीईआरटी उदाहरण]

light reflection and refraction class 10 ncert solutions
light reflection and refraction class 10 ncert solutions



(ए) अवतल लेंस

(बी) आयताकार कांच स्लैब

(सी) प्रिज्म

(डी) उत्तल लेंस

उत्तर:

(डी) चूंकि, आकृति में सभी समानांतर किरणें एक बिंदु पर मिलती हैं। तो, बॉक्स के अंदर एक उत्तल लेंस होना चाहिए।


light chapter of class 10 ncert pdf
light chapter of class 10 ncert pdf



प्रश्न 13.

निम्नलिखित में से कौन सा कथन सत्य है? [एनसीईआरटी उदाहरण]

(ए) एक उत्तल लेंस में 4D शक्ति होती है जिसकी फोकल लंबाई 0.25 m . होती है

(बी) एक उत्तल लेंस में 4D शक्ति होती है जिसकी फोकल लंबाई -0.25 m . होती है

(सी) एक अवतल लेंस में 4D शक्ति होती है जिसकी फोकल लंबाई 0.25 m . होती है

(डी) एक अवतल लेंस में 4D शक्ति होती है जिसकी फोकल लंबाई -0.25 m . होती है

उत्तर:

(ए) फोकल लंबाई f के लेंस की शक्ति पी द्वारा दी जाती है

P = 1/f, जहाँ f मीटर में फोकस दूरी है और P डायोप्टर में शक्ति है।

पी= 1/एफ या एफ = 1/पी = 1/4 = 0.25 एम


प्रश्न 14.

वाहनों में लगे रियर व्यू मिरर द्वारा निर्मित आवर्धन [एनसीईआरटी उदाहरण]

(ए) एक से कम है

(बी) एक से अधिक है

(सी) एक के बराबर है

(डी) वस्तु के सामने की स्थिति के आधार पर एक से अधिक या कम हो सकता है।

उत्तर:

(ए) उत्तल दर्पण वस्तु की आभासी, सीधा और कम छवि बनाता है और पीछे देखने वाला दर्पण भी उसी प्रकार की छवि बनाता है। इसलिए, वाहनों में लगे रियर व्यू मिरर द्वारा उत्पन्न आवर्धन (m) एक से कम होता है, अर्थात m <1।


प्रश्न 15.

अवतल दर्पण के सामने सूर्य की किरणें 15 सेमी बिंदु पर अभिसरित होती हैं। किसी वस्तु को कहाँ रखा जाना चाहिए, ताकि उसके प्रतिबिम्ब का आकार वस्तु के आकार के बराबर हो? [एनसीईआरटी उदाहरण]

(ए) दर्पण के सामने 15 सेमी

(बी) दर्पण के सामने 30 सेमी

(सी) दर्पण के सामने 15 सेमी और 30 सेमी के बीच

(डी) दर्पण के सामने 30 सेमी से अधिक

उत्तर:

(बी) सूर्य से किरणें, यानी अनंत से, एक बिंदु पर परावर्तन के बाद मुख्य अक्ष के समानांतर होती हैं, इसे फोकस के रूप में जाना जाता है। अत: अवतल दर्पण की फोकस दूरी यदि) 15 सेमी है। और हम जानते हैं कि समान आकार, वास्तविक और उल्टा प्रतिबिंब अवतल दर्पण द्वारा बनता है जब वस्तु को फोकस 2 ए या वक्रता केंद्र पर रखा जाता है, इसलिए समान आकार की छवि बनाने के लिए, वस्तु को 15 x 2 = 30 सेमी पर रखा जाएगा।


प्रश्न 16.

चित्र में I, II, III और IV के रूप में दिखाए गए चार छात्रों द्वारा एक आयताकार कांच के स्लैब से गुजरने वाली हवा से आने वाली प्रकाश की किरण का मार्ग। उनमें से कौन सा सही है? [एनसीईआरटी उदाहरण]


ncert class 10 science chapter 10 exercise solutions in Hindi
ncert class 10 science chapter 10 exercise solutions



(ए) केवल मैं

(बी) केवल II

(सी) केवल III

(डी) केवल IV

उत्तर:

(बी) एक आयताकार कांच के स्लैब में, उभरती किरणें आपतित किरण की दिशा के समानांतर होती हैं, क्योंकि विपरीत समानांतर चेहरों (एयर-ग्लास इंटरफेस) और (ग्लास-एयर इंटरफेस) पर प्रकाश की किरण के झुकने का पार्श्व विचलन ) आयताकार कांच के स्लैब के बराबर और विपरीत हैं। यही कारण है कि जो किरण निकलती है वह आपतित किरण के समानांतर होती है।


प्रश्न 17.

आपको पानी, सरसों का तेल, ग्लिसरीन और मिट्टी का तेल दिया जाता है। इनमें से किस माध्यम में समान कोण पर आपतित प्रकाश की किरण सबसे अधिक झुकेगी? [एनसीईआरटी उदाहरण]

(ए) मिट्टी का तेल

(बी) पानी

(सी) सरसों का तेल

(डी) ग्लिसरीन

उत्तर:

(डी) दी गई सामग्री में मिट्टी के तेल के रूप में अपवर्तक सूचकांक 1.44 है, पानी 1.33 है, सरसों का तेल 1.46 है और ग्लिसरीन 1.74 है। इस प्रकार, ग्लिसरीन सबसे अधिक वैकल्पिक रूप से सघन है और इसलिए इसका अपवर्तनांक सबसे बड़ा है। अतः प्रकाश की किरण ग्लिसरीन में सबसे अधिक झुकती है।


प्रश्न 18.

एक छात्र ने 60° के कोण पर झुके हुए दो समतल दर्पणों के बीच में एक प्रकाश बल्ब को बीच में रखा। उसके द्वारा कितनी छवियां देखी जाएंगी?

(ए) 4

(बी) 6

(सी) 5

(डी) 8

उत्तर:

(सी) 60° कोण पर झुके हुए दो समतल दर्पणों द्वारा बनने वाले प्रतिबिम्बों की संख्या जब उनके बीच में एक प्रकाश बल्ब रखा जाता है

एन = 360°/60° - 1 = 6 - 1 = 5


प्रश्न 19.

वस्तु के आकार का वास्तविक प्रतिबिम्ब प्राप्त करने के लिए किसी वस्तु को उत्तल लेंस के सामने कहाँ रखा जाना चाहिए? [एनसीईआरटी]

(ए) लेंस के मुख्य फोकस पर

(बी) दोगुने फोकल लंबाई पर

(सी) अनंत पर

(डी) लेंस के ऑप्टिकल केंद्र और उसके मुख्य फोकस के बीच

उत्तर:

(बी) वस्तु के आकार की वास्तविक छवि सेट करने के लिए, इसे उत्तल लेंस की फोकल लंबाई के दोगुने पर रखा जाना चाहिए।


प्रश्न 20.

शब्दकोश में पाए जाने वाले छोटे अक्षरों को पढ़ते समय आप निम्नलिखित में से किस लेंस का उपयोग करना पसंद करेंगे? [एनसीईआरटी]

(ए) फोकल लंबाई 50 सेमी . का उत्तल लेंस

(बी) फोकल लंबाई 50 सेमी . का अवतल लेंस

(सी) फोकल लंबाई 5 सेमी . का उत्तल लेंस

(डी) फोकल लंबाई 5 सेमी . का अवतल लेंस

उत्तर:

(सी) उत्तल लेंस का उपयोग आवर्धक कांच के रूप में किया जाता है। बेहतर परफॉर्मेंस के लिए इसकी फोकस दूरी छोटी होनी चाहिए।

Post a Comment

0 Comments